राजस्‍थान में प्‍लांट, तेलंगाना को फायदा…पीएम मोदी कल करेंगे इस महत्वाकांक्षी परियोजना का शिलान्‍यास

0

हाइलाइट्स

पीएम मोदी शुक्रवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से 300 मेगावाट के पावर प्‍लांट का शिलान्‍यास करेंगे.
यह प्‍लान एनटीपीसी ने राजस्‍थान में लगाया है, जिसका मकसद तेलंगाना के लोगों को फायदा पहुंचाना है.

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुक्रवार को एनटीपीसी की 300 मेगावाट की नोखरा सौर परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे. एनटीपीसी लिमिटेड ने गुरुवार को आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि राजस्थान के बीकानेर जिले में 1,550 एकड़ में फैली यह परियोजना तेलंगाना राज्य को हरित ऊर्जा सुनिश्चित करने के लिए 1,803 करोड़ रुपये के निवेश के साथ सीपीएसयू योजना (चरण- 2) के तहत एनटीपीसी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एनजीईएल) द्वारा क्रियान्वित की जा रही है.

बयान में कहा गया, “प्रधानमंत्री मोदी 16 फरवरी, 2024 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये एनटीपीसी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड की 300 मेगावाट की नोखरा सौर परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे.” चालू होने के बाद इस परियोजना से प्रतिवर्ष 73 करोड़ यूनिट हरित बिजली पैदा होने की उम्मीद है. एनटीपीसी ने कहा कि यह परियोजना न केवल 1.3 लाख से अधिक घरों को रोशन करेगी, बल्कि हर साल छह लाख टन कार्बन डाइऑक्साइड (सीओ2) उत्सर्जन को रोकने में भी मदद करेगी. कुल मिलाकर इस परियोजना से 25 साल की अवधि में 1.5 करोड़ टन तक कार्बन उत्सर्जन में कमी लाई जा सकेगी.

यह भी पढ़ें:- अयोध्‍या के राम मंदिर से कितना अलग है अबू धाबी का पहला भव्‍य हिन्‍दू मंदिर? PHOTO देख खुद करें फैसला

मेक-इन-इंडिया के तहत लगा प्‍लांट
बयान में कहा गया, “मेक-इन-इंडिया कार्यक्रम के तहत इस परियोजना में 13 लाख से अधिक सौर पीवी मॉड्यूल स्थापित किए गए हैं, जिससे सरकार के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को मजबूती मिली है.” एनजीईएल, एनटीपीसी की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी कंपनी है. इसकी परिचालन हरित क्षमता 3.4 गीगावाट से अधिक है और 26 गीगावाट प्रक्रिया में है, जिसमें सात गीगावाट का परिचालन शुरू होने वाला है.

ऊर्जा मंत्रालय के तहत आने वाली एनटीपीसी लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी एकीकृत बिजली इकाई है. इसकी स्थापित क्षमता 74 गीगावाट है और यह देश के कुल बिजली उत्पादन में 25 प्रतिशत योगदान करती है.

Tags: NTPC, Pm narendra modi, Solar power plant